नई दिल्ली : कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी और केन्द्रीय मत्स्य एवं पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह के बीच एकबार फिर ठ’न गई है। दरअसल, केरल के दौरे पर गए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसानों की तर्ज पर मछुआरों के लिए अलग से मंत्रालय बनाने की जरूरत बतायी है, जिसके बाद ही ब’खेड़ा खड़ा हो गया।

’खड़े गिरिराज सिंह का प’लटवार

राहुल गांधी के इस बयान पर केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ती’खी प्र’तिक्रिया दी है और स’वाल करते हुए पूछा है कि आखिर यह दि’मागी दि’वालियापन है या फिर सोची समझी सा’जिश। उन्होंने कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी पर देश में भ्र’म फैलाने का आ’रोप लगाया।

“जो आपके नाना ने नहीं किया”….

इसके साथ ही गिरिराज सिंह ने ये भी कहा कि उन्हें यह पता होना चाहिए कि एक मत्स्य पालन विभाग है, जिसके लिए केंद्र सरकार की तरफ से 20,050 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है। गिरिराज सिंह यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि ’70 साल में आपके नानाजी और दूसरों के द्वारा जो काम नहीं किया गया, उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर दिखाया।’

आपको बता दें कि केरल के कोल्लम में राहुल गांधी ने मछुआरों को संबोधित करते हुए कहा कि “जिस तरह किसान जमीन पर खेती करते हैं, उसी तरह आप भी समुद्र में खेती करते हैं। किसानों के लिए दिल्ली में एक मंत्रालय है और आपके लिए नहीं लिहाजा पहली चीज जो मुझे करनी है, वह ये कि भारत के मछुआरों के लिए एक मंत्रालय हो ताकि वहां आपके मु’द्दों और हितों को देखा जा सके।”

राहुल गांधी के इसी बयान पर उ’खड़े केन्द्रीय मत्स्य एवं पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है कि राहुल गांधी खुद संसद में फिशरी मंत्रालय से स’वाल करते हैं और देश में घूम-घूम कर लोगों के बीच भ्र’म भी फैला रहे हैं। यह दि’माग़ी दि’वालियापन है या सोची समझी सा’ज़िश? यह लोगों को सोचना है।

वहीं, इस पूरे मामले में खेल मंत्री किरन रिजिजू ने कहा कि राहुल गांधी अलग से मछली पालन मंत्रालय की मांग कर रहे हैं, जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहले ही साल 2019 में बना चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here