रांची : चाराघो’टाला (Fodder Scam) मा’मले में स’जायाफ्ता लालू प्रसाद को एकबार फिरबड़ा झ’टका लगा है और दुमका कोषागार मा’मले में झारखण्ड हाईकोर्ट ने ज’मानत या’चिका को खा’रिज कर दिया है। दुमका कोषागार मा’मले में आरजेडी चीफ को CBI कोर्ट ने दो अलग-अलग धाराओं में 7-7 साल की स’जा सुनाई है। स’जा की आधी ‌‌अवधि का’ट लेने के आधार पर लालू प्रसाद ज’मानत देने का आग्रह कियाथा।

लालू प्रसाद को लगा बड़ा झ’टका

फिलहाल इस पूरे मा’मले पर जस्टिस अपरेश सिंह की अदालत ने माना है कि लालू प्रसाद का दावा सही नहीं है और उनकी आधी स’जा पूरी होने में अब भी दो महीने का वक्त है, ऐसे में बे’ल नहीं दी जा सकती। फिलहाल ज’मानत या’चिका खा’रिज होने के बाद अब लालू प्रसाद को 60 दिनों के बाद एकबार फिर से झारखण्ड हाईकोर्ट में बे’ल पि’टीशन दाखिल करनी होगी।

वहीं, लालू प्रसाद की तरफ से द’लील पेश करते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि चारा घो’टाले से संबंधित आ’रोपी जगदीश शर्मा, दयानंद कश्यप और सुनील गांधी को आधी स’जा पूरी नहीं होने के बावजूद हाईकोर्ट ने ज’मानत प्रदान की है। लालू प्रसाद की त’बीयत भी ठीक नहीं है। वह गं’भीर रूप से बी’मार हैं, इस आधार पर भी वह ज’मानत के हकदार हैं।

वहीं, CBI की तरफ से ये द’लील दी गई कि लालू प्रसाद का दावा पूरी तरह सही नहीं है।
दुमका कोषागार मा’मले में उन्हें रि’मांड में लेने में देरी की गई। जब तक रि’मांड में नहीं लिया जाता, तब तक दूसरे मा’मले की स’जा की गणना नहीं की जा सकती। इसके समर्थन में सीबीआई की ओर से लालू प्रसाद के सभी मा’मलों के आदेश की कॉपी और संबंधित द’स्तावेज भी पेश किए गए।

सीबीआई की ओर से द’लील दी गई कि दुमका कोषागार मा’मले में सीबीआई को’र्ट ने दो धा’राओं में सात- सात साल की स’जा दी है। आदेश में यह भी स्पष्ट है कि दोनों स’जा अलग- अलग चलेगी। ऐसे में दुमका कोषागार मा’मले में लालू प्रसाद के सात साल जे’ल में रहने के बाद ही आधी अवधि मानी जाएगी। उन्होंने कुछ आ’रोपियों को आधी स’जा का’टने से पहले ही ज’मानत देने की द’लील में कहा कि लालू प्रसाद और उनका मा’मला अलग-अलग है। दोनों को एक साथ नहीं जोड़ा जा सकता। ऐसे में लालू प्रसाद का आधी स’जा का’टने का दावा सही नहीं है और उन्हें ज’मानत नहीं मिलनी चाहिए।

4 में से 3 मा’मलों में मिल चुकी है बे’ल

चारा घो’टाले के 5 मा’मले लालू प्रसाद के खि’लाफ चल रहे हैं। 4 मा’मलों में उन्हें स’जा मिली है। 3 मा’मलों में लालू प्रसाद को पहले ही ज’मानत मिल गई है। एक मा’मले में अभी सीबीआई को’र्ट में सुनवाई जारी है। लालू प्रसाद की ओर से या’चिका में कहा गया है कि जे’ल में उन्होंने 42 महीने 28 दिनों की हि’रासत की अवधि पूरी कर ली है। मगर सीबीआई की ओर से कहा गया कि लालू प्रसाद ने आधी स’जा नहीं का’टी है। इस कारण उन्हें ज’मानत नहीं दी जा सकती। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने लालू प्रसाद और सीबीआई को हि’रासत की कुल अवधि की सत्यापित कॉपी पेश करने का निर्देश देते हुए सु’नवाई की तारीख आज की तय की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here