पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एकबार फिर वि’रोधि’यों को आ’ड़े हाथों लिया है। निश्चय संवाद के दौरान नीतीश कुमार ने विपक्ष पर ह’मला बोलते हुए कहा कि मुझे बिहार के लोगों की सेवा करने पर भरोसा है तो कुछ लोगों को सिर्फ और सिर्फ मे’वा से मतलब है। उन्हें बिहार की जनता के भले के लिए कुछ नहीं करना है लेकिन बातें बड़ी-बड़ी करते रहते हैं।

निश्चय संवाद में गरजे नीतीश कुमार

नीतीश कुमार ने निश्चय संवाद के दौरान अ’ल्पसंख्य’कों का मु’द्दा उठाया और कहा कि वि’रोधी दल अ’ल्पसंख्य’कों के नाम पर वोट लेते हैं। भागलपुर में जो दं’गा हुआ, उसके लिए क्या किया? हमने सरकार में आते ही जां’च कराई, पीड़ितों को 2500 रुपए प्रतिमाह देने का प्रावधान किया लेकिन वोट सभी लोग लेते हैं लेकिन वह बताएं कि इस समाज के लिए उन्होंने क्या किया है? मुझे तो सभी लोगों के लिए काम करना है। मुझे सेवा पर ही भरोसा है, लेकिन कुछ लोगों को मेवा से सिर्फ मतलब है।

विरोधी दलों पर सा’धा नि’शाना

इसके साथ ही नीतीश कुमार ने कहा कि हमने शुरू से कहा था कि बिहार में का’नून का रा’ज स्थापित करेंगे और विकास करेंगे लिहाजा हमने जी-जान से हर तबके का विकास किया है। पहले तो पति-पत्नी का रा’ज था, क्या मिला बिहार को? क्या स्थिति थी बिहार में? फिलहाल नई पीढ़ी को बताना चाहिए कि बिहार में क्या स्थिति थी और कैसा जं’गलरा’ज था।

उद्योग-धंधे पर कही ये बात

इसके साथ ही नीतीश कुमार उ’द्योग-धं’धे को लेकर भी बात कही और कहा कि कोई यहां उद्योग नहीं लगाना चाहता क्योंकि यहां समुद्र नहीं है इसलिए हम स्थानीय स्तर पर उद्योग लगाने के लिए काम कर रहे हैं। आज जीडीपी 2006-07 के 88 हज़ार करोड़ से 4 लाख 14 हजार 977 करोड़ हो गया है। प्रति व्यक्ति आय 34 हज़ार 483 रुपये हो गई है। इसके साथ ही नीतीश कुमार ने शिक्षा को लेकर भी कई बातें कहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here