गोपालगंज : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जिले में सियासी स’रग’र्मी काफी तेज है। हर पार्टी जीत हासिल करने के लिए र’णनी’ति के तहत अपनी गोटी सेट करने में जुटी है। इसी कड़ी में चिराग पासवान की पार्टी लोजपा ने भोरे (सु) विधानसभा सीट पर ल’ड़ा’ई को काफी दिलचस्प बना दिया है और एक महिला प्रत्याशी पुष्पा प्रकाश को म’हासमर में उतार दिया है।  

रोचक हुआ सियासी सं’ग्राम

फिलहाल लोजपा के चुनावी मैदान में उतरने के बाद अब ये सीट हॉ’ट सीट बन गयी है। दरअसल, सियासी समीकरण को तोलते हुए महागठबंधन ने भोरे (सु) सीट CPI(ML) के खाते में दी है लिहाजा CPI(ML) ने जितेन्द्र पासवान पर बड़ा दां’व खेला है और अपना उम्मीदवार घोषित किया है। वहीं, दूसरी तरफ NDA की तरफ से जेडीयू ने पूर्व डीजी सुनील कुमार को चुनावी म’हासम’र में उतार दिया है। पप्पू यादव की पार्टी ‘जाप’ ने भी मनोज बैठा को अ’खाड़े में उतारकर वि’रोधियों को खुली चु’नौती दी है लेकिन CPI(ML)-JDU और JAP के बीच होने वाले सियासी सं’ग्रा’म को लोजपा ने दिलचस्प बना दिया है।

लोजपा ने उतारा उम्मीदवार

जी हां, भी’तरखाने की बात करें तो भोरे (सु) सीट पर पूर्व डीजी सुनील कुमार को जेडीयू का प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद से ही पार्टी कार्यकर्ताओं में काफी ना’राज’गी है। वहीं, बीजेपी के जमीनी स्तर के वर्कर्स में भी काफी रो’ष है लिहाजा सियासी पंडितों के मुताबिक NDA को इसका खा’मिया’जा भु’गतना पड़ सकता है, वहीं इसका पूरा फायदा लोजपा प्रत्याशी को मिल सकता है।  

गौरतलब है कि पूर्व डीजी सुनील कुमार को जेडीयू का प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद जेडीयू के नगर निकाय उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार जायसवाल ने बाहरी प्रत्याशी का मु’द्दा उठाकर खुलकर इसका वि’रो’ध किया और अपने पद से इ’स्तीफा दे दिया। वहीं, अं’दरूनी खबरों के मुताबिक बीजेपी खेमे में भी ना’राज’गी देखी जा रही है।

वहीं, CPI(ML) प्रत्याशी जितेन्द्र पासवान की बात करें तो वे साल 2015 में होने वाले विधानसभा चुनाव में तीसरे पायदान पर थे। उस वक्त CPI(ML) महागठबंधन का हिस्सा नहीं था लिहाजा महागठबंधन की तरफ से कांग्रेस प्रत्याशी अनिल कुमार ने सर्वाधिक 44 फीसदी वोट पाकर वि’रोधियों को प’टखनी दी थी लेकिन इस मर्तबा CPI(ML) महागठबंधन में है लिहाजा इस मर्तबा सियासी सं’ग्राम काफी दिलचस्प होता दिख रहा है।

जानें जा’ती’य समीकरण

विदित है कि 2011 की जनगणना के अनुसार भोरे (सु) विधानसभा क्षेत्र की कुल आबादी 4 लाख 42 हजार 067 है। इनमें से 95.43% ग्रामीण हैं और 4.57% शहरी आबादी है। कुल जनसंख्या में से अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) का अनुपात क्रमशः 14.27 और 3.31 है। 2019 की मतदाता सूची के मुताबिक इस निर्वाचन क्षेत्र में 3 लाख 36 हजार 649 मतदाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here