Monday, October 18

MP में फ्लोर टेस्ट के लिए शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका, इस दिन होगी सुनवाई

भोपाल : मध्यप्रदेश में फ्लोरटेस्ट को लेकर लगातार हो रहे नाटकीय घटनाक्रम के बाद अब ये मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर तुरंत बहुमत परीक्षण कराने की मांग की है। गौरतलब है कि इस मामले पर अब सुप्रीम कोर्ट में मगंलवार को सुनवाई होगी।

मप्र में जारी है सियासी उठापटक

विदित है कि मध्य प्रदेश में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच कमलनाथ सरकार ने आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट नहीं होने दिया। राज्यपाल लालजी टंडन ने एक मिनट में बजट अभिभाषण खत्म कर दिया। उन्होंने सभी सदस्यों को शुभकामनाएं दीं और संविधान की मर्यादा बनाए रखने के लिए कहा। इसके बाद मीडिया के कैमरों को सदन के अंदर से हटा दिया गया।

26 मार्च तक सदन स्थगित

इसके बाद सदन में बहुमत परीक्षण की मांग को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने जोरदार हंगामा किया लेकिन संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह ने स्पीकर एनपी प्रजापति से कोरोना वायरस के खतरे का हवाला देकर विधानसभा की कार्यवाही 26 मार्च तक स्थगित करने की सिफारिश की। स्पीकर एनपी प्रजापति ने उनकी बात मानते हुए सदन की कार्यवाही स्थगित करने का फैसला किया।

गौरतलब है कि बीजेपी का आरोप है कि मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार इस वक्त अल्पमत में है लिहाजा बीजेपी ने फ्लोरटेस्ट कराने की मांग की है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *